व्यापम घोटाला काण्ड में कांग्रेस को लगा बहुत बड़ा झटका; अब राहुल गाँधी की होगी बोलती बंद।

व्यापम घोटाला काण्ड में एक नया मोड़ आया है। भाजपा के लिए बहुत बड़ी ख़ुशी की खबर के रूप में आये इस खबर ने शिवराज सिंह चौहान पर कांग्रेस द्वारा फेंके गए कीचड को कांग्रेस तक वापस पंहुचा दिया है।

कांग्रेस ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर आरोप लगाया था के उनके द्वारा व्यापम के सिस्टम एनालिस्ट के हार्ड डिस्क से छेड़छाड़ कराई गयी है। कांग्रेस का आरोप था के ये छेड़छाड़ करके मुख्यमंत्री ने अपना और अपने करीबियों का नाम उस हार्ड डिस्क से उड़वाया था।

लेकिन सीबीआई ने अपनी जांच पूरी करने के बाद कहा के हार्डडिस्क से छेड़छाड़ के कोई सबूत नहीं है और सीबीआई का पक्ष रखते हुए काउंसल ने अदालत में भी इस बात को स्वीकारा है के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कुछ गलत नहीं किया है।

खबर आने के बाद से भाजपा के कार्यालयों में उत्साह का माहौल दिखा। वही दूसरी तरफ कांग्रेस ने कहा के वे इस तथ्य को चुनौती देंगे और इसकी दुबारा जांच की मांग करेंगे।

आपको बता दे के व्यापम “व्यावसायिक परीक्षा मंडल” का छोटा किया हुआ नाम है। इसके अंदर बहुत से एंट्रेंस एग्जाम कराये जाते है। इस परीक्षा में गड़बड़ियों की खबरे 1990-2000 के मध्य से ही आ रही थी। 2000 में इस से जुड़ा पहला FIR किया गया था।

इसकी जांच करने को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एक समिति बनायीं थी जिसने अपनी रिपोर्ट 2011 में सामने रखी, जिसके बिनाह पे 100 के ऊपर गिरफ्तारियां हुई। कांग्रेस ने कोई और मुद्दा न होने पर इसे शिवराज सिंह चौहान के ऊपर कलंक की तरह दिखने की कोशिश की। पर वो अब तक किसी भी प्रकार से शिवराज सिंह चौहान को घेर नहीं पाए, इसीलिए ऐसे झूठे इलज़ाम लगाने पर मजबूर है।

Related Post

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*