VIDEO – नोटबंदी पर भारत की जनता है मोदीजी के संग, देखें कैसे। फिर पढ़ें हमारा विश्लेषण।

मोदीजी के द्वारा घोषित किये गए काले धन के खिलाफ चल रहे इस जंग में पूरे देश की जनता अपने प्रधानमंत्री के साथ है। अगर चंडीगढ़ से आये नतीजो ने अब तक विपक्ष की आँखें नहीं खोली और अगर महाराष्ट्र में तेज़ी से बढे भाजपा के ग्राफ ने भी उनकी अक्ल पे लगा ताला नहीं हटाया, तो उन्हें और कोई नहीं समझ सकता।

आज हम आपके सामने कुछ ऐसे तथ्य लाएंगे जिस से आप समझ जायेंगे के देश की जनता सिर्फ और सिर्फ मोदीजी के साथ है, और कुछ खास लोगो और कुछ ख़ास तबको को छोड़ कर भारत का लगभग हर आदमी मोदीजी के समर्थन में आज भी खड़ा है।

पहले आप देखें ये विडियो:

विपक्ष का कहना था के नोटबंदी से गांवों में बहुत गुस्सा फैला है मोदीजी के खिलाफ। उनका तर्क था के गांव के लोगों के पास पैसा नहीं पहुच रहा है।

तो नोटबंदी के बाद से हुए चुनावो की बात कर ली जाए।

महाराष्ट्र में हाल में हुए म्युनिसिपेलिटी स्तर के चुनावो में भाजपा ने जिस तरह बाकी सभी पार्टियों को पीछे छोड़ ऐतिहासिक विजय प्राप्त की, उस से कम से कम इतनी बात तो पक्की हो जानी चाहिए के लोगों में भाजपा के लिए या मोदीजी के लिए गुस्सा तो नहीं है। अगर वो होता तो इतने लोग इतनी भारी संख्या में भाजपा को वोट न देते।

यही चीज़ चंडीगढ़ में ख़त्म हुए चुनाव में भी देखने को मिली। नोटबंदी के बाद से जहां भी चुनाव हुए है, भाजपा ने पिछले चुनाव के मुक़ाबले में बहुत अच्छा प्रदर्शन किया। अगर इसे भी लोगों का नोटबंदी के प्रति समर्थन न कहा जाये तो और क्या कहें?

अब इसके बाद हम आपको दिखाते है कुछ ऐसे ट्वीट जो उनके द्वारा किये गए है जिन्होंने भाजपा की 2014 में जीत और बिहार में हार, दोनों की सही घोषणा की थी। इन्होंने ये घोषणा ज़मीन पे लोगों से बात करके की थी। इनका नाम डॉ. प्रवीण पाटिल है और ये चुनावी विश्लेषक है।

ये रहे ट्वीट्स:

इस ट्वीट में डॉक्टर प्रवीण पाटिल कह रहे है के उनके पास आयी खबर के अनुसार गांवों में लोग ये कह रहे है के मोदीजी अकेले लड़ रहे है और उनके साथ खड़ा होना है। इसके ऊपर के ट्वीट में उन्होंने लिखा था के लोगों ने मोटे तौर पर ये बात समझ ली है के इस वक़्त मोदी और बाकी सब के बीच लड़ाई हो रही है, और लोग मोदी के साथ खड़े हो रहे है।

ऊपर के इन दो ट्वीट में प्रवीण पाटिल कहते है के उन्हें ज़मीनी स्तर पर नरेंद्र मोदीजी के पक्ष में बनते हुए एक सुनामी सामान समर्थन की आहट आ रही है।
ये पूछे जाने पर के क्या उन्हें पूरा यकीन है के यही हो रहा है, उन्होंने लिखा है के वो बात को कम कर के बता रहे है, क्योंकि उन्हें खुद यकीन नहीं हो रहा के मोदीजी के लिए इतना समर्थन कैसे आ रहा है।

Related Post

  • Add Your Comment