मायावती और अखिलेश के उड़े अब होश। मोदी जी का ये कदम भाजपा को उत्तर प्रदेश जिताएगा।

नोटबंदी के बाद से विपक्ष के पास राइ का पहाड़ खड़ा करने के अलावा और कोई तरीका नहीं बचा था, देश में बन रहे मोदी सुनामी से लड़ने के लिए। इसीलिए उन्होंने एक एक करके छोटे छोटे मुद्दे पकडे और उन मुद्दों पर इतना झूठ फैलाया के कई लोग सच में समझ बैठे के मोदी का ये कदम अच्छा नहीं है।

एक उदहारण के तौर पर आपको बताते है राजनीतिक पार्टियों को मिली हुई छूट के बारे में।

राजनीतिक पार्टियों को आय पर कर नहीं देना होता और साथ ही अब की बार हुई नोटबंदी में हो रहे कई कानूनों के विरुद्ध जाके ये पार्टियां पैसे जमा कर सकती है। इसीलिए आपने एक स्टिंग आपरेशन में देखा होगा कैसे उत्तर प्रदेश में राजनीतिक पार्टियां (भाजपा को छोड़कर सभी) काले धन को सफ़ेद करने में लगी हुई है।

लोगों को लगा था के ऐसा भाजपा ने किया, जबकि ये कानून बहुत पहले से ही है।

तो फिर भाजपा ने इस कानून को हटाया क्यों नहीं?

इसका जवाब देंगी आपको ये निचे की तस्वीरें।

ऊपर के हैडलाइन में देखें कैसे मायवती के भाई के अकाउंट में करीब डेढ़ करोड़ रुपये मिले और कैसे मायावती के बसपा पार्टी के अकाउंट में 104 करोड़ पाए गए।

और यहां NDTV न्यूज़ में देखिये कैसे सूत्रों से खबर मिली है के 104 करोड़ रुपये मायावती के पार्टी अकाउंट में नोटबंदी के बाद आये है।

अब इन खातों पर इनकम टैक्स की नज़र आ चुकी है। और इस वजह से काला धन रखने वाले अब बच नहीं पाएंगे।

एनफोर्समेंट डायरेक्टरेट ने सीसीटीव फुटेज की मांग की है और अकाउंट खोलते वक़्त जिन डाक्यूमेंट्स का इस्तेमाल किया गया वो भी मांगे है। आपको बता दे के मिली खबर के अनुसार हर दुसरे दिन इस अकाउंट में करीब 15-17 करोड़ रुपए जमा हो रहे थे।

अब आप पूछेंगे के इस से मोदीजी उत्तर प्रदेश का चुनाव कैसे जीतेंगे?

तो बात बहुत सरल है। इस खाते से ही बसपा का चुनावी प्रचार होना था। इस के साथ वाले खातों पर भी अब नज़र होगी और इसीलिए बसपा अब संभल के कदम रखेगी। इसका अलावा बाकी पार्टियों में भी अब डर का माहौल होगा और वो भी चुनाव के वक़्त काला धन इस्तेमाल करने से डरेंगी।

और इस तरह मोदीजी के लिए उत्तर प्रदेश जीतने का रास्ता बहुत ही आसान हो जायेगा।

Related Post

    1. hari singh shekhawat December 27, 2016

    Add Your Comment