31 मार्च के बाद पुराने नोट अधिक संख्या में रखना होगा अपराध: मोदी कैबिनेट ने पास किया आर्डिनेंस

मोदी कैबिनेट ने आज एक अहम् आर्डिनेंस को पारित करते हुए देश में एक नए कानून की घोषणा कर दी है। इस कानून के तहत 31 मार्च 2017 के बाद से बड़ी संख्या में 500 और 1000 के पुराने नोट रखना कानूनी तौर पर अपराध होगा। आपको मालूम होगा के आम जनता 31 दिसम्बर 2016 तक नज़दीकी बैंकों में जाके अपने पैसे जमा कर सकती है। अगर इसके बाद भी जमा न करा पाए तो RBI जाकर 31 मार्च तक पुराने नोट जमा हो सकते है। उसके बाद पुराने नोट बड़ी संख्या में रखना एक अपराध होगा।

कुछ मीडिया सूत्रों के अनुसार 31 मार्च के बाद एक सीमित मात्रा से ज़्यादा पुराने नोट रखने वालों पर जुर्माने से लेकर जेल में सज़ा काटने तक का प्रावधान बनाया गया है। इसके साथ ही कैबिनेट ने एक और आर्डिनेंस पास किया जिस से सरकार की और RBI की पुराने नोटों को लेकर कोई भी ज़िम्मेदारी ख़त्म हो जायेगा। इस से भविस्य में कोई सरकार पर मुकदमा नहीं कर सकेगा के सरकार के द्वारा दिए नोटों को सरकार स्वीकार करे।

आपको बता दे के ऐसा कानून लाना क्यों ज़रूरी था।

अभी कई मुनाफाखोरों ने काला धन रखने वालो के साथ एक हिस्सा मांग के सेटिंग की हुई है। जिसके तहत वो बहुत सारे जगहों से काला धन इखट्टा करते है और गरीबो को लाइन में लगा के काले धन को सफ़ेद करवाते है। लेकिन क्योंकि ज़्यादा पैसा जमा करना मुश्किल है, इसीलिए ऐसे मुनाफाखोरों और काला बाजारियों को पुराने नोटों को बदलने में वक़्त लगेगा। अब इस कानून के बाद उन मुनाफाखोरों की नींद उड़ जाएगी।

आम गरीब भारतीयों ने अब तक अपने पुराने नोट जमा करा दिए है। एक आम गरीब भारतीय के पास 5000 रुपये रोज़ जमा करने लायक पैसे नहीं है। फिर भी नेता अपने पैसों को सफ़ेद करने के लिए गरीब के कंधे पर बन्दूक रख के सरकार पे निशाना लगते है। लेकिन जनता सब समझती है, और इसका उदहारण अभी बीते चुनावो में दिख ही गया है विपक्ष को।

Related Post

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*