भटकल समेत 5 आतंकवादियों पर मोदी सरकार का वज्र प्रहार; अब नहीं तुम्हे बचाने को कांग्रेस सरकार

आज NIA स्पेशल कोर्ट ने २०१३ के हैदराबाद के धमाको में जिम्मेदार पकडे गए ५ आतंकवादियो को दोशी पाते हुए मौत की सजा सुनाई है. और इसी के साथ यह फेल ऐसा मामला है जिसमे की इंडियन मुज्जाहिद्दीन के किसी भी आतंकवादी को सजा मिली हो.

NIA स्पेशल कोर्ट ने १३ दिसम्बर को इस मामले में पकडे गए सभी मुलजिमो को दोशी पाते हुए उनकी सजा सुनिश्चित कर अपने पास सुरक्षित रख्खी थी.

२०१३ के हैदराबाद के धमाको में NIA ने यासीन भटकल और उसके चार साथियो को सबूतों के आधार पर गिरफ्तार किया था. जिनमे से एक आतंकवादी पाकिस्तान का नागरिक है. यह सारे आतंकवादी २१ फेब्रुअरी २०१३ को हुए धमाको में १८ लोगो के मौत के और १३१ लोगो को घायल करने के लिए पकडे गए थे.

हम NIA कोर्ट द्वारा यासीन भटकल उर्फ़ मोहद. अहमद सिद्विबप पाकिस्तानी नागरिक ज़िया-उर-रहमान, असदुल्लाह अख्तर उर्फ़ हड्डी, तहसीन अख्तर और अजाज़ शेख को फ़ासी की सजा सुनाने का समर्थन करते है.

साथ ही साथ हम कोर्ट से यह भी गुहार लगते है की ऐसे सभी मामलो में इसी प्रकार से जल्द से जल्द सुनवाई की जाए और हमारे भारत वर्ष पर हमला करने वाले किसी भी आतंकवादी या किसी भी दुश्मन को बक्श न जाए.

जय हिन्द.

Related Post

1 Comment

  1. भारतीय होने का एक ही अर्थ है कि अपनी मातृभूमि के लिये अपना सबकुछ अर्पण करदें;भारत विरोधी सभी कार्यों का खुलकर बिना किसी भय के विरोध अवश्य ही करना चाहिए। यही हम सभी का एकमात्र धर्म है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*