यूपी से बहुत बड़ी खबर: मुलायम सिंह ने अपनी हे बेटे, मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को पार्टी से निकाला।

उत्तर प्रदेश से बहुत बड़ी खबर आ रही है। समाजवादी पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह ने अपने बेटे, यानी के उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को पार्टी से बाहर निकाल दिया है। इसके साथ मुलायम सिंह ने अपने पार्टी के जनरल सेक्रेटरी रामगोपाल यादव, जो के उनके अपने भाई है, को भी पार्टी से निकल दिया है। इन दोनों को 6 साल के लिए पार्टी से निकाला गया है।

मुलायम सिंह यादव ने लखनऊ में अपने घर से मीडिया को संबोधित करते हुए बताया के अखिलेश यादव को अनुशाषणहीनता की वजह से पार्टी से निकाला गया, जबकि रामगोपाल यादव को पार्टी को तोड़ने की कोशिश करने की सजा दी गयी है। मुलायम सिंह यादव ने इस मौके पर कहा के उनके लिए पार्टी से बड़ा कोई भी नहीं और हमारी सबसे पहली कोशिश पार्टी को बचाने की है।

मुलायम सिंह यादव ने ये भी कहा के रामगोपाल यादव ने पार्टी की नेशनल एग्जीक्यूटिव मीटिंग बुलाई थी, जो बुलाने का उन्हें कोई हक़ नहीं था। ये सिर्फ मुलायम सिंह खुद बुला सकते है। ऐसा करके उन्होंने पार्टी को तोड़ने के संकेत दिए। मुलायम सिंह ने आगे कहा के अखिलेश यादव को ये बात अभी समझ नहीं आ रही के रामगोपाल यादव मुख्यमंत्री को कमज़ोर करने की कोशिशें कर रहे है।

इन सब से 2 चीज़े हो सकती है।

पहला ये के मुलायम सिंह जनता को ये संकेत दे रहे है के उनकी पार्टी संयुक्त नहीं है, और इसलिए आम आदमी उन्हें वोट देने से हिचकिचा सकता है।

दूसरी बात ये हो सकती है के वो अपने बेटे को एक अच्छी और साफ़ छवि वाले नेता के रूप में खुद को दिखने का मौक़ा दे रहे है, और ये उनकी रणनीति है।

दोनों ही सूरतो में भाजपा का जीतना अब और ज़्यादा आसान हो गया है।

Related Post

  • Add Your Comment